सुजानगढ़ उपचुनाव कौन जीतेगा ?

सुजानगढ़ उपचुनाव



राजस्थान में राजसमंद, सहाड़ा और सुजानगढ़ की 3 सीटों पर उपचुनाव होने वाले हैं जी हां हम बात कर रहे हैं राजस्थान में होने वाले उपचुनाव के बारे में राजस्थान में 3 सीटों पर उपचुनाव होने वाले हैं लेकिन सबसे दिलचस्प सीट के लिए मुकाबला होने वाला है वह सुजानगढ़ है यहां पर कांग्रेस के विधायक भंवरलाल मेघवाल का आकस्मिक निधन हो जाने के कारण यह सीट खाली हो गई थी अब यहां पर कांग्रेस ने अपना सहानुभूति और जातिगत कार्ड खेलते हुए मास्टर भंवर लाल मेघवाल के बेटे मनोज मेघवाल को उम्मीदवार बनाया है इस इस ग्रुप में दोनों की घोषणा करने के लिए कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी दोनों ही पार्टियों को बहुत विचार विमर्श करना पड़ा था और गहन अध्ययन विचार करने के बाद कांग्रेस ने अपना उम्मीदवार दिवंगत विधायक भंवरलाल मेघवाल के बेटे मनोज मेघवाल को बनाया वहीं बीजेपी ने अपना उम्मीदवार सुजानगढ़ से दो बार विधायक का चुनाव जीत चुके और बीजेपी सरकार में खान मंत्री रहने वाले खेमाराम मेघवाल को बनाया है ,बीजेपी चुनावी वैतरणी को पार करने के लिए जातिगत वोट बैंक साधने की कोशिश कर रही है और इसीलिए उन्होंने खेमाराम मेघवाल को अपना उम्मीदवार बनाया है अब देखना यह है कि कांग्रेस का शिकार काम करता है या फिर बीजेपी का जातिगत कार्ड यह तो नतीजे के आने के बाद ही पता चल पाएगा।



दो बार लगातार किसी ने भी नहीं जीता चुनाव भंवरलाल रहे हैं सबसे ज्यादा बार विधायक:-
उपचुनाव में सबसे दिलचस्प सीट मानी जाने वाली सुजानगढ़ सीट सीट में 1951 से लेकर 2018 तक अभी तक 15 बार चुनाव हुए हैं और यहां की खास बात यह है कि यहां की जनता ने किसी भी नेता को लगातार दो बार उम्मीदवार बनाकर विधानसभा नहीं भेजा है हालांकि भंवरलाल मेघवाल 5 बार यहां से विधायक रहे लेकिन वह लगातार दो बार चुनाव जीतकर कभी भी विधानसभा नहीं जा सके।



भाजपा से ज्यादा बार निर्दलीय जीते:-
1951 से लेकर 2018 तक 15 बार विधानसभा चुनाव में बीजेपी की तरफ से चार बार विधायक कांग्रेस की तरफ से छह बार विधायक जबकि निर्दलीय पांच बार विधायक रहे।


 

शेयर करे 

शेयर करे 


Leave a Comment

error: Content is protected !!
Free Job Here Whatsapp Group

Join Our WhatsGroup

Freejobhere Telegram Channal

Join Our Telegram Channal